Author: admin

काला नमक के फायदे

काला नमक के फायदे

कुछ और
अगर आपको स्वस्थ जिंदगी जीनी है तो रोज सुबह काला नमकऔर पानी मिला कर पीना शुरु कर दें। जी हां, इस घोल को सोल वॉटर कहते हैं, जिससे आपकी ब्लड शुगर, ब्लड प्रेशर,ऊर्जा में सुधार, मोटापा और अन्य तरह की बीमारियां झट से ठीक हो जाएंगी।भारतीय काला नमक आयुर्वेदिक चिकित्सा में एक मसाले के रूप में माना जाता है, यह कब्ज, पेट की ख़राबी, सूजन, पेट फूलना, गण्डमाला, हिस्टीरिया, मोटापा, उच्च रक्तचाप, थाइरोइड, चरम रोगों के साथ साथ कमज़ोर दृष्टि के रोगियों के लिए बहुपयोगी है. काला नमक के बड़े फायदे -   अगर आपकी त्वचा रूखी है और बहुत खुजली हो रही है तो काले नमक के पानी से नहाना  आपको बहुत लाभ पहुंचाएगा। अगर आपकी त्वचा रूखी है और बहुत खुजली हो रही है तो काले नमक के पानी से नहाना  आपको बहुत लाभ पहुंचाएगा। यह पाचन को दुरस्त कर के शरीर की कोशिकाओं तक पोषण पहुंचाता है, जिससे मोटापा कंट्रोल करने मे
इलायची के फायदे

इलायची के फायदे

कुछ और
इलायची हर भारतीय के घर में पाई जाती है| यह माउथ फ्रेशनर व मसाला होता है, जो कई तरह के व्यंजन में डाला जाता है| इलायची का स्वाद अलग तरह का होता हैजिससे ये सभी को भाता है| इसके बहुत से स्वास्थवर्धक फायदे भी है, इलायची का सेवन आमतौर पर मुखशुद्धि के लिए अथवा मसाले के रूप में किया जाता है। यह दो प्रकार की आती है- छोटीइलायची तथा बड़ी इलायची जहां बड़ी इलायची को हम व्यंजनों को लजीज बनाने के लिए एक मसाले के रूप में प्रयोग करते हैं, वहीं पर छोटी इलायची व्‍यंजनों में खुशबू बढ़ाने के काम आती है इलायची के फायदे - यदि आपके गले में  दर्द  है तो सुबह और रात्री सोने से पहले एक -एक इलायची को खाये सिर दर्द इलायची पीसकर मस्तिष्क पर लेप करने और बीजों को पीसकर सूघने से सिर दर्द में आराम मिलता है। सर्दी खासी होने पर एक इलायची ,अदरक ,का एक टुकरा ,तुलसी के पांच पत्ते पान में रखकर खाएं बिच्छू दंश दर्द
लौंग के फायदे एवं उपचार –

लौंग के फायदे एवं उपचार –

कुछ और
लौंग की तासीर गर्म होती है। इसलिए सर्दी-जुकाम होने पर लौंग खाएं या इसकी चाय बनाकर पीना फायदेमंद है। अगर आप लौंग के तेल का इस्तेमाल कर रहे हैं तो इसे नारियल तेल के साथ मिलाकर उपयोग करें ताकि इसकी गर्म तासीर से सेहत को नुकसान न होलौंग एक बहुत छोटा सा फूल के आकार का होता है, जो लौंग के पेड़ से ही आता है. लौंग की हमारे भारतीय मसालों में मुख्य जगह है, इससे खाने को नया स्वाद, खुशबू मिलती है. कोई भी इस छोटी सी जड़ी-बूटी अचंभित करने वाले स्वास्थ्य लाभ से अनजान नहीं होगा। लौंग  ने ना केवल भारतीय खाने में अपने लिए एक ख़ास जगह बनाई है अपितु यह धार्मिक पूजा एवं अनुष्ठान में भी एक महत्वपूर्ण स्थान रखती है। आइये जानते है लौंग के बेहतरीन फायदे व उपचार कौन -कौन से है  लौंग को घी या दूध में पीसकर आंखों में लगाने से हिस्टीरिया की बेहोशी दूर हो जाती है। बूंद लौंग के तेल की लेकर 25-30 ग्राम शक्कर म
मुँह के छालो के उपाय

मुँह के छालो के उपाय

मुंह में छाले होना एक बहुत आम बात है, लेकिन इसके होने पर इन्सान का बुरा हल हो जाता है| वो ना ढंग से खा पी पता है ना ही बोल पाता है| ये छाले दिखने में सफ़ेद व आजू बाजु से लाल होते है| मुंह में छाले होना युं तो बहुत आम सी बीमारी है परन्तु अगर इसका समय रहते मुंह के छाले का इलाज न करे तो ये बड़ी परेशानी का कारण बन सकती है। छाले होने के कई कारण हो सकते है- मुँह के छालो के उपाय - 1. एक तोला हल्दी को एक लीटर पानी में उबालें। पानी ठंडा होने पर दिन में दो बार गरारे करें। दो दिन में छाले ठीक हो जाएंगे। उबालना नहीं चाहते, तो हल्दी को पानी में डालकर कुछ देर रखें, फिर इस पानी को छानकर कुल्ला करने से मुंह के छाले खत्म हो जाते हैं। 2. जामुन के कोमल पत्तों को पीसकर, पानी में मिलाकर कुल्ला करने से छाले दूर हो जाते हैं। 3. ग्लिसरीन में भुनी हुई फिटकरी मिलाकर रुई की सहायता से छालों पर लगाएं और ला
दाँतों के दर्द के लिए घरेलू नुस्खे

दाँतों के दर्द के लिए घरेलू नुस्खे

आज कल की दौड़-भाग भरी जिंदगी में हम अपनी सेहत का कोई ध्यान नहीं रख पातें है जिससे हमे कई तरह की समस्याएं उत्पन्न होने लगती है जो हमारी सेहत के लिए हानिकारक एवं कष्टकारी होती है दांत दर्द की समस्या लगभग सभी लोगो में आम होती है लगभग पांच में से हर दूसरा व्यक्ति दांत दर्द की समस्या से ग्रस्त होता है - दांत दर्द की समस्या से राहत पाने के कुछ उपाय- अदरक केो एक छोटे से टुकड़े में काट कर मुँह में रख कर चूसते जाये इससे निकलने वाले रस से दांतों को आराम पहुचेगा और कुछ ही देर में इससे दाँतों के दर्द में आराम मिलेगा । दाँतों के दर्द में बर्फ के टुकडे को किसी कपडे में करके दांतों की अच्छी तरह से सिकाई करने से दांत दर्द में आराम मिलता है तथा दांतों में दर्द की वजह से होने वाली सुन्नता भी धीरे -धीरे समाप्त हो जाती है ।  दो फूल वाली लौंग को मुँह में रखकर लगातार कुछ घंटे तक चूसने से इससे नि
शिमला मिर्च के प्रयोग तथा गुण

शिमला मिर्च के प्रयोग तथा गुण

कुछ और
लाल, हरे और पीले रंग में मिलने वाली शिमला मिर्च स्वास्थ्य के लिहाज से बहुत फायदेमंद होती है. विटामिन सी से भरपूर ये मिर्च विटामिन ए और बीटा-कैरोटीन का भी एक प्रमुख सोर्स है.शिमला मिर्च, स्‍वादिष्‍ट और पौष्टिक सब्जियों में से एक है। इससे बनने वाली हर डिश बेहद स्‍वादिष्‍ट और लाजबाव होती है इसमें कई पोषक तत्‍व, विटामिन सी, फाइबर और एंटीऑक्‍सीडेंट भरपूर मात्रा में होते है। इसमें मिनरल्‍स भी पर्याप्‍त होते के इसमें पाचन सम्बंधित समस्याओं को दूर करने के कई गुण होते है। इसे खाने से पाचन क्रिया दुरूस्त हो जाती है और पेट में दर्द, गैस, कब्ज आदि की समस्याएं दूर हो जाती है। आइये जानते है की शिमला मिर्च के स्वास्थ्य क्ले प्रति बेहतरीन गुण व प्रयोग कौन -कौन से है  शिमला मिर्च एक ऐसी हरी सब्जी है जिसको हम कई तरह से अपने भोजन के लिए प्रयोग में ला सकते है १-हम शिमला मिर्च को नूडल्स के प्रयोग मे
घर को सजाये  कैसे

घर को सजाये कैसे

कुछ और
घरों के लेटेस्ट डिजाइन देखकर सभी यहीं सोचते हैं कि काश हमारा घर  भी ऐसा होता लेकिन आजकल  बड़े और आलीशान घर  खरीदना कोई आसान काम नहीं है लेकिन आप  अपनी सूझ-बूझ और समझदारी से छोटे से घऱ को  भी अपने मन मुताबिक सजा सकते हैं।अगर हम आपसे कहें नहीं... तो शायद आपको यकीन न हो लेकिन अगर आप चाहें तो अपने घर  के पुराने और बेकार सामान से भी घर को  नया लुक दे सकते हैं. बढ़ती महंगाई में हर बार कुछ नया खरीद पाना संभव नहीं ... आप अपने घर के दरवाज़े को पेंट या साफ कर सकते हैं। अगर आप अपने घर के पुराने सामान या दरवाज़े साफ़ करते हैं तो यह भी आपके घर की खूबसूरती को बढ़ा देगा। कोई भी पुराने सामान के ऊपर की गंदगी को साफ़ करें और देखें की आपके घर के कमरे कैसे चमकने लगते हैं। चाहे तो आप पास की दुकान से कुछ सजाने का सामान खरीद के भी ला सकती हैं। आप लाइट्स को थोड़ा क्रिएटिव तरीके से लगवा सकते है और लैंप को सजाया ज
बीमार बच्चों की देखभाल  कैसे करें

बीमार बच्चों की देखभाल कैसे करें

कुछ और
बच्चों की देखभाल में सबसे जरूरी टिप्स  होते हैं कि उनके खानपान का ध्यान रखा जाए, साफ-सफाई, मेडिकल टेस्ट और घर पर नवजात शिशु  की किलकारी गूंजने से जो खुशी होती है वो उसके बीमारहोते ही चिंता में बदल जाती सबसे आम वायरल बुखार मौसमी फ्लू या इनफ्लूएंजा होता है। मगर बच्चे आसानी से हल्के वायरल इनफेक्शन की चपेट में भी आ सकते हैं। बहुत से अलग-अलग तरह के विषाणु हैं, जो आपके शिशु को बीमार बना सकते हैं। ये संक्रमित व्यक्ति के खांसने या छींकने से ...है ।बच्चों के खान - पान का पूरा ध्यान रखे बच्चों को खाने में पौस्टिक आहार ही दे जैसे -दूध,दही हरी सब्जियां दाल चावल दलिया खिचड़ी रोटी आदि ही दें बच्चों को बाहर की चीजें कतई न दें जैसे -समोसे ,बर्गर आदि बच्चों को घर की तली भुनी चीजें न दें बीमार बच्चों को हल्का भोजन ही दें स्वच्छ जल से स्नान कराएं और स्वच्छ तौलिये से शरीर को पोछे फिर उसे स्वच्छ कपडे
कच्चे केले के चिप्स कैसे बनाये

कच्चे केले के चिप्स कैसे बनाये

कुछ और
  सेहत से सौन्दर्य तक फायदेमंद है | केला बहुत फायदेमंद होता है , केला क्योकि फलो में आता है इसलिए इसकाचिप्स बाकि दिनों की तरह आप उपवास में भी ग्रहण कर सकते है | केले के चिप्स को स्टोर करके रखा भी जा सकता है कच्चे केले के चिप्स बडे़ कुरकुरे और स्वादिष्ट बनते हैं. चाय के साथ तो इन्हें खाने का मज़ा ही आ जाता है. केले के चिप्सकी सबसे अच्छी बात ये है कि ये तुरंत तैयार हो जाते हैं. आप भी इन्हें ज़रूर बनाकर देखें.|.केले की चिप्स बनाने के लिए उपलब्ध सामान ----- कड़ाही कलछी सरसो का तेल ,घी अथवा रिफाइंड तेल कच्चे केले नमक पीसी हुई लाल मिर्च कच्चे केले के चिप्स बनाने का तरीका - कच्चे केले को छीलकर चिप्स के आकार के काट लीजिए कड़ाही में तेल गर्म कीजिए फिर थोड़ा -थोड़ा करके तलिये ध्यान रहे शुरवात में आँच तेज फिर मध्यम आंच और अंत में तेज आंच होनी चाहिए चिप्स को लगातार चलाते जाइये जब च
घर पर फिंगर चिप्स कैसे बनायें

घर पर फिंगर चिप्स कैसे बनायें

कुछ और
हम अक्सर आलू फिंगर चिप्स (फ्रेंच फ्राइस) बाजार में खाते है, पर क्या आपको पता है की आलू फिंगर चिप्स हम आसानी से घर पर बना सकते है। घर पर बनाने में हम सफाई का भी ख़याल रखते है और जितना चाहे बना सकते है| तो यह है टेस्ट भी और बचत भी| आलू फिंगर चिप्स की रेसिपी विधि उपलब्ध है।--- फिंगर चिप्स बनाने का सामान - निकलने की छलनी रिफाइंड तेल आलू बड़े साइज के पीसी हुई काली मिर्च नमक चावल का आटा फिंगर चिप्स बनाने का तरीका --- सर्वप्रथम कड़ाही में तेल डालकर उसे मध्यम आंच पर गर्म करें आलू को छीलकर उसे तीन भागो में विभाजित करलम्बे -लम्बे काट कर उसे साफ़ पानी धो लें चिप्स को क्रिप्सी बनाने के लिए एक बाऊल में चावल का आटा इस मात्रा में घोलें की फिंगर चिप्स पर एक परत चढ़ जाए गर्म तेल में चिप्स को चावल के आटेमें डुबोकर अलग -अलग डाले चिप्स को लगातार चलते जाएँ ध्यान रहे की शुरुवात में आंच तेज फिर धीमी औ