आप चुकंदर के बारे में कितना जानतें है। चुकंदर जितना हमारे लिए फायदेमंद है। उतना ही हमारे लिए हानिकारक भी है। किसी भी वस्तु का सेवन करने से पहले हमें इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि इसकी कितनी मात्रा का सेवन करने से हमारा शरीर स्वास्थ्य रह सकता है। क्योंकि किसी प्रकार की भी वस्तु जब हम अधिक मात्रा में लेते हैं, तो इससे हमारे शरीर को नुकसान भी हो सकता है। चुकन्दर से हमें बहुत से फायदे प्राप्त होते हैं क्योंकि इसमें पोषक तत्व प्रचुर मात्रा में होते हैं।

chukandar

चुकंदर को लोग कई तरह से प्रयोग करतें हैं। जैसे कि कोई चुकंदर को सलाद के रूप में लेना पसंद करता है तो कोई इसकी सब्जी बनाकर खाना पसंद करता है।  बता दें सबसे ज्यादा लोग चुकंदर का जूस बना कर पीना पसंद करते है। लोगों को लगता है इसका लाल रंग हमारे शरीर के खून को बढाता है। इसके कई गुण ऐसे होतें है, जो हमारे शरीर के रोगों से लड़ने की छमता को बढ़ा देता है इतना ही नहीं आप को बता दें जितना चुकंदर फायदेमंद उतनी ही इसकी पत्तियां भी फायदेमंद होती हैं जिसमे कैल्शियम ,आयरन जैसे विटामिन तत्व पाए जाते हैं। पत्तो को खाने से खून की बढ़ोतरी होती है। जिसकी वजह से कई तरह की बीमारियों से भी बचाता है। हर रोज चुकंदर के  पत्तों का  जूस पीने से बीमारी आप से रहेगी कोसों दूर।

पहले जानते है चुकंदर के फायदे

1. ब्लड शुगर लेवल को कम करें:- चुकंदर नाइट्रेट्स का अच्छा स्रोत है। इसका सेवन करने पर नाइट्राइट्स और गैस नाइट्रिक ऑक्साइड में बदल जाता है। ये दोनों ही तत्व हमारी धमनियों को चौड़ा करने और ब्लड प्रेशर को कम करने में मददगार होते है।

2. कोलेस्ट्रोल को कम करें:- चुकंदर में फाइबर, फ्लैवोनॉइड्स और बेटासायनिन काफी मात्रा में होता है। जिसके कारण इसका रंग लाल बैंगनी होता है। यह एलडीएल कोलेस्ट्रोल को कम करने में मदद करता है। जिसके कारण यह धमनियों में नहीं जमता। इसका सेवन करने से दिल के दौरे का जोखिम कम हो जाता है।

3. गर्भवती महिलाओं के लिए फायदेमंद:- इसमें फोलिक एसिड की उच्च मात्रा पाई जाती है। यह पोषक तत्व गर्भवती महिलाओं और अजन्म बच्चों के लिए लाभकारी होता है। इससे अजन्म बच्चे के मेरुदंड बनने में मदद मिलती है और गर्भवती महिलाओं को अतिरिक्त ऊर्जा प्रदान होती है।

4. आस्टिओपरोसिस से बचाव:- चुकंदर में मिनरल सिरका मौजूद होता है, जो शरीर में कैलिशयम के रूप इस्तेमाल होता है। इससे हमारे दांत और हड्डियां स्वस्थ रहती है। जब हम चुकन्दर जूस पीते हैं, तो हम दांतों और हड्डियों की बीमारियों से बच सकते हैं।

5. डायबिटीज पर नियंत्रण:- जो लोग डायबिटीज से परेशान होते हैं, वो चुकन्दर खाकर मीठे की तलब को आसानी से दूर कर सकते हैं। इसमें कैलोरी की मात्रा कम होती हैं और यह फैट फ्री होने के कारण डायबिटीज के मरीजों के लिए यह एक अच्छा वेजिटेबल होता है।

6. एनीमिया से लड़ता है:- रंग में लाल होने के कारण चुकन्दर खून की कमी को मिटाने में मदद करता है। इसी कारण जब एनीमिया हो जाए, तो इसका जरूर सेवन करना चाहिए। इसमें अधिक मात्रा में आयरन होता है और आयरन की मदद से हीमाग्लूटनिन बनते हैं जो हमारे खून में ऐसा हिस्सा होते हैं जो ऑक्सीजन और शरीर के जरूरी पोषक तत्वों दूसरे अंगों तक पहुँचाने में मदद करता है।

7. थकान दूर करें:- चुकंदर का सेवन करने से एनर्जी बढ़ती है। इसके नाइट्रेट तत्व धमनियों का विस्तार करने में मदद करते हैं, जिससे शरीर के सभी अंगों में सही ढंग से ऑक्सीजन पहुंच जाती है, जिससे शरीर में एनर्जी बढ़ती है।

अब जानते है ज्यादा चुकंदर का सेवन करने के आप को कौन से नुकसान हो सकते है

चुकंदर

1. किडनी स्टोन्स की समस्या:- चुकन्दर के जूस का सबसे बड़ा दुष्परिणाम किडनी पर होता है। ऐसे में किडनी के रोगियों या जिन्हें किडनी स्टोन बनने का खतरा होता है उन्हें इसके जूस का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि इसमें ऑक्सलेट होता है। ऑक्सलेट वे यौगिक होता है जिससे किडनी में स्टोन बनते हैं। इसकी पत्तियों के मुकाबले इसकी जड़ में कम ऑक्सलेट होता है, परन्तु फिर भी हमें सावधानी बरतनी चाहिए वरना हमें चुकंदर के नुकसान का सामना करना पड़ सकता है।

2. मूत्र का रंग और मल त्याग की समस्या:- ऐसी स्तिथि को बेटुरिया कहा जाता है ऐसे में आपके शरीर का गुलाबी या लाल रंग का मूत्र हो जाता है। कुछ लोगों का मल भी इस प्रकार का होता है, जिसके कारण लोग उसे खून समझ लेते हैं। इस स्तिथि में चिंता नहीं करनी चाहिए क्योंकि इससे आमतौर पर किसी प्रकार का कोई नुकसान नहीं होता। ऐसी स्थिति 48 घंटे में ठीक हो जाती है। इसके बाद आपका मल और मूत्र ठीक हो जाता है।

3. ब्लडप्रेशर में गिराव असुरक्षित:- इसके जूस से हमारा ब्लडप्रेशर कम हो जाता है, यदि आप अपना ब्लडप्रेशर कम करना चाहते हो, तब ठीक है और यदि आप ब्लडप्रेशर की दवाई के साथ इसका सेवन करते हो, तो आपका ब्लडप्रेशर बहुत ही कम हो जाता है, जो आपके लिए खतरनाक हो सकता है।

4. पेट खराब होना:- चुकन्दर के जूस का अधिक सेवन करने से पेट के खराब होने की संभावना बन जाती है। यदि आप इसके जूस पीने की शुरुआत कर रहें हैं, तो आपको अन्य फलों के रस में मिलाकर इसका सेवन करना चाहिए ताकि धीरे-धीरे करके आपके शरीर को इसकी आदत हो जाए।

5. हाई शुगर की समस्या सौ ग्राम कच्चे चुकन्दर में लगभग सात ग्राम शुगर होती है। यदि आप इसकी मात्रा में जूस का सेवन कर रहे हो तो आप शुगर का अधिक मात्रा में सेवन कर रहे हो, दूसरे शब्दों में कहा जाए तो यदि आप शुगर पर नियंत्रण रख रहे हो तो आप इसका सेवन कर सकते हैं।

अधिक मात्रा में इसका सेवन हानिकारक हो सकता है। इसलिए इसका सेवन एक बार में आठ औंस और सप्ताह में तीन बार ही करना चाहिए। यदि आपको इसका स्वाद पसंद न हो तो आप इसे किसी अन्य फल जैसे गाजर या सेब के जूस में मिला कर भी सेवन कर सकते हैं।

Please follow and like us:
error

Related posts:

अदरक के दस बेहतरीन फायदे
हरी धनिया के फायदे एवं उपयोग
मुँह के छालो के उपाय
पेट दर्द दूर करने के आठ बेहतरीन घरेलु नुस्खे
पीलिया से बचने के घरेलु उपाय
बंद नाक को खोलने के घरेलु नुस्खे
गठिया ,बाईं का घरेलू उपचार
जाने सरसों के तेल में सेहत का राज
दांतों से कीड़े हटाने के घरेलु उपाय
दांतों की कैविटी कैसे दूर करें
चढ़ी हुई नस को घरेलु उपाय द्वारा कैसे दूर करें
डेंगू बुखार को दूर करने के घरेलु नुस्खे
जले कटे हुए निशानों को घरेलु नुस्खों द्वारा कैसे ठीक करें
दुबले पतले लोग घरेलु नुस्खों द्वारा सेहत को कैसे बनाये
घड़े के पानी पीने के स्वास्थ्य के प्रति बेहतरीन फायदे
जायफल के बेहतरीन फायदे
पेट के कीड़ों को आसानी से समाप्त करने के घरेलु नुस्खे
हाथ -पैर के सुन्न होने पर कौन -कौन से घरेलु नुस्खे अपनाएँ