भारतीय साड़ी ,एक संस्कृति एक परम्परा

आज के इस बदलते युग में हम और हमारा समाज बहुत तेजी से बदल रहा है ।पर इन सभी  नए बदलावों के साथ -साथ पुरानी संस्कृति और आज के रीति -रिवाजो में बहुत अंतर आ चुका है ।और यदि हम बात करें। भारतीय परिधानों मे पहनी जाने वाली साड़ी की तो शायद यह कहना भी गलत नहीं होगा ।की साड़ी हमारी संस्कृति का एक अभिन्न हिस्सा है ।और यह हमारे रहन -सहन रंग ढंग का भी एक अहम हिस्सा बन चुका है ।

BHARTIY SAADI EK PARAMPARA EK RITI RIWAAJ

साड़ी पहनने का प्रवधान हमारे भारत वर्ष में आज या कल से नहीं बल्कि सदियों से चला आ रहा है ।साड़ी को महिलाओं की श्रृंगार का भी हिस्सा माना गया है ।पूरे भारत में अलग -अलग स्थानों पर साड़ी पहनने के भी अलग -अलग रीति रिवाज माने जाते है ।किसी ख़ास अवसर पर या पूजा आदि में साड़ी पहनना बहुत शुभ माना जाता है। पर अलग -अलग संस्कृतियों के साथ हर संस्कृति में साड़ी पहनने का तरीका भी अलग है ।और उसकी अपनी ही अलग मान्यता है साड़ी पहनने का प्रवधान हमारी समाजिक व मानसिक तौर पर भी सबसे ज्यादा पसंद किया जाने लुक है ।इसे हमारे भारतीय परिधानों में सबसे उच्च स्तर पर रखा गया है ।

बदलते समय के साथ -साथ भारत में साड़ी के साथ -साथ अन्य परिधानों को पहनने का क्रेज भी लोगो में लगातार बढ़ता जा रहा है ।पर इन सभी के बावजूद भारत में साड़ी का हमेशा से ही अपना महत्त्व रहा है ,रहा था ,और यह हमेशा लोगो में जिन्दा रहेगा कोई भी परिधान साड़ी के स्थान पर कभी भी सुशोभित नहीं हो पायेगा। साड़ी का ख़ास स्थान हमेशा लोगों में समय समय पर दीखता रहेगा ।शायद यही वजह है ।भारतीय परिधानों में मुख्य तौर पर पहनी जाने वाली साड़ी अन्य परिधानों को पीछे पछाडटी हुई पूरी दुनिया में अपनी ख़ास जगह बना चुकी है ।इसे अब न सिर्फ भारत में बल्कि पूरी दुनिया में अलग -अलग तरीके से पहनने के लिया पसंद किया जा रहा है ।

पर आज अगर यह देखा जाए तो पुराने समय के साथ -साथ आज के बदलते समय लोग साड़ी को नई -नई तरीको से पहनना पसंद करते है ।किसी भी त्यौहार या फंक्शन में लोग साड़ी को अपने अंदाज में नए तरीके से पहनते है। और समय के साथ साड़ी में कई तरह के बदलाव हुए है। पर इन सभी के बावजूद साड़ी को पहनने की परम्परा और नजरिया आज भी वैसे का वैसा ही है ।

Related posts:

अजवाइन का पानी इन 10 बीमारियों से रखता है, दूर
गाजर के इतने फायदे है कि आप हैरान रह जायेंगे इन १० को तो जरूर जाने
४ दिनों में मदार के पत्तों से मोच चोट सूजन जड़ से भगाएं // aasan ghareelu upchaar
एक मिनट में कारगर फोड़े फुंसी का घरेलू उपचार || Phode Funsi Ka Ghareelu Ilaj
बाबा रामदेव की आयुर्वेदिक दवाइयों और पतंजलि के ब्यूटी प्रोडक्ट्स की लिस्ट
आँखों की देखभाल
घर को सजाये कैसे
काला नमक के फायदे
बच्चे और उनकी शिक्षा -
केले के 8 असरदार फायदे
जानिये क्या होते है कुपोषण के लक्षण --
सात दिनों में मोटापा कैसे घटाएं
कमजोर हड्डियों को मजबूत कैसे बनायें
अरण्डी के तेल के बेहतरीन फायदे
कपूर के बेहतरीन फायदे
चांदी ,ताम्बे के बर्तनों को घरेलु नुस्खों द्वारा कैसे चमकाएं
हाथ -पैर के सुन्न होने पर कौन -कौन से घरेलु नुस्खे अपनाएँ
भीगे हुए चने के स्वास्थ्य के प्रति बेहतरीन फायदे
News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *