मधुमेह

मधुमेह से बचने के ग्यारह बेहतरीन उपाय

मधुमेह से बचने के ग्यारह बेहतरीन उपाय

मधुमेह
मधुमेह को साइलेंट किलर कहा जाता है, मधुमेह बहुत सी बिमारियों का कारण भी है आज की तारीख में मधुमेह  रोग एक बड़ी महामारी का रूप ले चुका है, और आने वाले २० वर्षों तक मधुमेह के रोगियों की संख्या बढ़ती रहेगी।  मधुमेह के नियंत्रण और मधुमेह के साथ एक स्वस्थ जीवन बिताने के बारे में, लेकिन इसके साथ ही मधुमेह की रोकथाम करने के पहलू को भी उजागर करने की जरूरत है। पूरे देश में लगभग 29 करोड़ लोग डायबिटीज जैसी खतरनाक बीमारी से ग्रस्त हैं। हर उम्र के लोगों को डायबिटीज यानी मधुमेह अपने चंगुल में ले रहा है। इसकी मुख्य वजह है गलत जीवनशैली, मोटापा, शारीरिक मेहनत न करना, मानसिक तनाव, वसा, चीनी या बहुत ज्यादा कैलरी वाला खानपान। जीवनशैली में थोड़ा बदलाव कर हम डायबिटीज पर काबू पा सकते हैं। डायबिटीज एक ऐसी अवस्था है, जब खून में शुगर की मात्रा जरूरत से ज्यादा बननी शुरू हो जाती है। आइये जानते है। की हम मधुमे
मधुमेह के लक्षणों को कैसे पहचाने

मधुमेह के लक्षणों को कैसे पहचाने

मधुमेह
आजकल मधुमेह एक आम समस्या बन गई है। कई लोगों में यह बीमारी शुरू में हो जाती है लेकिन, उनको इस बात का पता नहीं चल पाता है जिसके कारण यह बीमारी बहुत ही खतरनाक हो जाती है। दरअसल डायबिटीज लाइफस्टाइल संबंधी या वंशानुगत बीमारी है। जब शरीर में पैंक्रियाज नामक ग्रंथि इंसुलिन बनाना बंद कर देती है तबमधुमेह की समस्या होती है। इंसुलिन ब्लड में ग्लूकोज को नियंत्रित करने में मदद करता है। मधुमेह ऐसी बीमारी है जो एक बार किसी के शरीर को पकड़ ले तो उसे फिर जीवन भर छोड़ती नहीं। इस बीमारी का जो सबसे बुरा पक्ष है वह यह कि यह शरीर में अन्य कई बीमारियों को भी निमंत्रण कर  देती है।डायबिटीज मेलेटस (डीएम), जिसे सामान्यतः मधुमेह कहा जाता है, यह उपापचय  संबंधी बीमारियों का एक समूह है जिसमें लंबे समय तक उच्च रक्त शर्करा का स्तर होता है। उच्च रक्त शर्करा के लक्षणों में अक्सर पेशाब आना होता है, प्यास की बढ़ोतरी होती ह
मधुमेह से जुड़े भ्रम // डायबिटीज का पूरा सच | Myths About Diabetes

मधुमेह से जुड़े भ्रम // डायबिटीज का पूरा सच | Myths About Diabetes

मधुमेह
डायबिटीज के बारे में कई मिथक हैं और डायबिटीज से ग्रसित लोगों के खान-पान के बारे में भी कई मिथक हैं। भारत में 6 करोड़ से अधिक लोग और अमेरिका में 2.5 करोड़ लोग शुगर से ग्रसित हैं, जितनी जयादा संख्या में लोग इस बीमारी से घिरे हुए हैं, उतने ही इस बीमारी के मिथक हैं। आइये जानते है आखिर सच क्या है। .... मिथ: डाइबिटीज होने पर दवाइयों का सेवन करना ही काफी है। कुछ और करने की जरुरत नहीं है | सच: ऐसा कतई नहीं है, डाइबिटीज़ होने पर आपको परहेज भी रखना पड़ता है। इलाज से ज्यादा परहेज रखने से बीमारी के दुष्प्रभावों से आराम मिलता है। खासतौर पर सही खानपान और नियमित लाइफ स्टाइल का ख्याल रखना चाहिए | मिथ: इन्सुलिन का इंजेक्शन सेहत के लिए ठीक नहीं होता है | यह बेहद नुकसानदायक इंजेक्शन होता है। सच: यह धारणा सही नहीं है वैसे तो सभी दवाइयों के कुछ न कुछ साइड इफेक्ट्स तो होते है पर इन्सुलिन का इंजेक्शन श
जाने मधुमेह क्या होता है कैसे होता है कैसे पहचाने और कैसे बचें

जाने मधुमेह क्या होता है कैसे होता है कैसे पहचाने और कैसे बचें

मधुमेह
आजकल के इस भागदौड़ भरे युग में अनियमित जीवनशैली के चलते जो बीमारी सर्वाधिक लोगों को अपनी गिरफ्त में ले रही है वह है मधुमेह। मधुमेह को धीमी मौत भी कहा जाता है। यह ऐसी बीमारी है जो एक बार किसी के शरीर को पकड़ ले तो उसे फिर जीवन भर छोड़ती नहीं। इस बीमारी का जो सबसे बुरा पक्ष है वह यह है कि यह शरीर में अन्य कई बीमारियों को भी निमंत्रण देती है। मधुमेह रोगियों को आंखों में दिक्कत, किडनी और लीवर की बीमारी और पैरों में दिक्कत होना आम है। पहले यह बीमारी चालीस की उम्र के बाद ही होती थी लेकिन आजकल बच्चों में भी इसका मिलना चिंता का एक बड़ा कारण हो गया है। भारत में हर साल 10 लाख से ज़्यादा मामले डायबिटीज मेलेटस के आते है , इसे सामान्यतः मधुमेह कहा जाता है, यह चयापचय संबंधी बीमारियों का एक समूह है इसमें लंबे समय तक उच्च रक्त शर्करा का स्तर होता है। उच्च रक्त शर्करा या मधुमेह के लक्षणों में अगर आपको अ