कुछ और

शिमला मिर्च के प्रयोग तथा गुण

शिमला मिर्च के प्रयोग तथा गुण

कुछ और
लाल, हरे और पीले रंग में मिलने वाली शिमला मिर्च स्वास्थ्य के लिहाज से बहुत फायदेमंद होती है. विटामिन सी से भरपूर ये मिर्च विटामिन ए और बीटा-कैरोटीन का भी एक प्रमुख सोर्स है.शिमला मिर्च, स्‍वादिष्‍ट और पौष्टिक सब्जियों में से एक है। इससे बनने वाली हर डिश बेहद स्‍वादिष्‍ट और लाजबाव होती है इसमें कई पोषक तत्‍व, विटामिन सी, फाइबर और एंटीऑक्‍सीडेंट भरपूर मात्रा में होते है। इसमें मिनरल्‍स भी पर्याप्‍त होते के इसमें पाचन सम्बंधित समस्याओं को दूर करने के कई गुण होते है। इसे खाने से पाचन क्रिया दुरूस्त हो जाती है और पेट में दर्द, गैस, कब्ज आदि की समस्याएं दूर हो जाती है। आइये जानते है की शिमला मिर्च के स्वास्थ्य क्ले प्रति बेहतरीन गुण व प्रयोग कौन -कौन से है  शिमला मिर्च एक ऐसी हरी सब्जी है जिसको हम कई तरह से अपने भोजन के लिए प्रयोग में ला सकते है १-हम शिमला मिर्च को नूडल्स के प्रयोग मे
दाँतों के दर्द के लिए घरेलू नुस्खे

दाँतों के दर्द के लिए घरेलू नुस्खे

आज कल की दौड़-भाग भरी जिंदगी में हम अपनी सेहत का कोई ध्यान नहीं रख पातें है जिससे हमे कई तरह की समस्याएं उत्पन्न होने लगती है जो हमारी सेहत के लिए हानिकारक एवं कष्टकारी होती है दांत दर्द की समस्या लगभग सभी लोगो में आम होती है लगभग पांच में से हर दूसरा व्यक्ति दांत दर्द की समस्या से ग्रस्त होता है - दांत दर्द की समस्या से राहत पाने के कुछ उपाय- अदरक केो एक छोटे से टुकड़े में काट कर मुँह में रख कर चूसते जाये इससे निकलने वाले रस से दांतों को आराम पहुचेगा और कुछ ही देर में इससे दाँतों के दर्द में आराम मिलेगा । दाँतों के दर्द में बर्फ के टुकडे को किसी कपडे में करके दांतों की अच्छी तरह से सिकाई करने से दांत दर्द में आराम मिलता है तथा दांतों में दर्द की वजह से होने वाली सुन्नता भी धीरे -धीरे समाप्त हो जाती है ।  दो फूल वाली लौंग को मुँह में रखकर लगातार कुछ घंटे तक चूसने से इससे नि
काला नमक के फायदे

काला नमक के फायदे

कुछ और
अगर आपको स्वस्थ जिंदगी जीनी है तो रोज सुबह काला नमकऔर पानी मिला कर पीना शुरु कर दें। जी हां, इस घोल को सोल वॉटर कहते हैं, जिससे आपकी ब्लड शुगर, ब्लड प्रेशर,ऊर्जा में सुधार, मोटापा और अन्य तरह की बीमारियां झट से ठीक हो जाएंगी।भारतीय काला नमक आयुर्वेदिक चिकित्सा में एक मसाले के रूप में माना जाता है, यह कब्ज, पेट की ख़राबी, सूजन, पेट फूलना, गण्डमाला, हिस्टीरिया, मोटापा, उच्च रक्तचाप, थाइरोइड, चरम रोगों के साथ साथ कमज़ोर दृष्टि के रोगियों के लिए बहुपयोगी है. काला नमक के बड़े फायदे -   अगर आपकी त्वचा रूखी है और बहुत खुजली हो रही है तो काले नमक के पानी से नहाना  आपको बहुत लाभ पहुंचाएगा। अगर आपकी त्वचा रूखी है और बहुत खुजली हो रही है तो काले नमक के पानी से नहाना  आपको बहुत लाभ पहुंचाएगा। यह पाचन को दुरस्त कर के शरीर की कोशिकाओं तक पोषण पहुंचाता है, जिससे मोटापा कंट्रोल करने मे
इलायची के फायदे

इलायची के फायदे

कुछ और
इलायची हर भारतीय के घर में पाई जाती है| यह माउथ फ्रेशनर व मसाला होता है, जो कई तरह के व्यंजन में डाला जाता है| इलायची का स्वाद अलग तरह का होता हैजिससे ये सभी को भाता है| इसके बहुत से स्वास्थवर्धक फायदे भी है, इलायची का सेवन आमतौर पर मुखशुद्धि के लिए अथवा मसाले के रूप में किया जाता है। यह दो प्रकार की आती है- छोटीइलायची तथा बड़ी इलायची जहां बड़ी इलायची को हम व्यंजनों को लजीज बनाने के लिए एक मसाले के रूप में प्रयोग करते हैं, वहीं पर छोटी इलायची व्‍यंजनों में खुशबू बढ़ाने के काम आती है इलायची के फायदे - यदि आपके गले में  दर्द  है तो सुबह और रात्री सोने से पहले एक -एक इलायची को खाये सिर दर्द इलायची पीसकर मस्तिष्क पर लेप करने और बीजों को पीसकर सूघने से सिर दर्द में आराम मिलता है। सर्दी खासी होने पर एक इलायची ,अदरक ,का एक टुकरा ,तुलसी के पांच पत्ते पान में रखकर खाएं बिच्छू दंश दर्द
गाय के दूध के फायदे -और उपचार

गाय के दूध के फायदे -और उपचार

कुछ और
हम कई तरह के जानवर पालते है जैसे कि कुत्ता, गाय, भैंस, बकरी, मुर्गी आदि लेकिन इन सभी में महत्वपूर्ण हैं गाय। जो संसार में हर जगह पाई जाती हैं । हिन्दू लोग गाय की पूजा करते हैं । धार्मिक दृष्टि सेगायगाय का दूध, जीर्णज्वर, मानसिक रोगों, मूर्च्छा, भ्रम, संग्रहणी, पांडुरोग, दाह, तृषा, हृदयरोग, शूल, गुल्म, रक्तपित्त, योनिरोग आदि में श्रेष्ठ है। गाय को शतावरी खिलाकर उस गाय के दूध पर मरीज को रखने से क्षय रोगदूर हो जाता है। आइये जानते है की गाय के दूध के बेहतरीन फायदे कौन कौन से है -   1.गाय के एक गिलास कच्चे दूध में दो छोटी इलायची को बारीक मात्रा में पीसकर सुबह शाम पेट की पीने से अमल पित की समस्या दूर हो जाती हैतथा पेट को आराम मिलता है। 2. कमजोर बच्चो को सूखा रोग हो तो एक गिलास दूध में तीन बादाम दो काजू को पीसकर सुबह शाम पिलाने से उनमे सूखा रोग की समस्या समाप्त हो जाती है तथा यह त्
हरी धनिया  के फायदे एवं उपयोग

हरी धनिया के फायदे एवं उपयोग

नर्वस सिस्टम को सक्रिय बनाए रखने में भी धनिया की पत्ती काफी फायदेमंद होती है.। त्वचा संबंधी कई रोगों जैसे पिंपल्स होने की समस्या, ब्लैकहेड्स और सूखी त्वचा में इसके इस्तेमाल से काफी फायदा होता है। मसूड़ों में रक्तसडाव धनिया पत्ती के फायदे 50 ग्राम धनिया एक किलो पानी में उबालकर छानकर रोजाना दो बार कुल्ला करने से मसूड़ों में रक्त आना बंद हो जाता है | भारत में धनिया और अमेरिका और यूरोप के कुछ हिस्सों में सिलैंट्रो के नाम से जाना जाता है। इस जड़ी बूटी का उपयोग पूरी दुनिया में व्यापक रूप से व्यंजन में मसाला के  रूप में और गार्निश के लिए किया जाता है  आइये जानते है हरे धनिये के फायदे व उपयोग कौन -कौन से है । हरा धनिया खाने से मुंह में सुगंध रहती है। प्याज, लहसुन आदि गंध वाली चीजें खाने के बाद हरा धनियां चबाने से मुंह से दुर्गंध आना बंद हो जाती है। एक गिलास पानी में दो चमच्च धनिया ड
लहसुन  के फायदे

लहसुन के फायदे

कुछ और
लहसुन मसालेदार खाने का स्‍वाद बढ़ाता है, वहीं इसके सेहतमंद फायदों का भी कोई जवाब नहीं है.. यह सौंदर्य समस्‍याओं को खत्‍म करने केसाथ ही शरीर को डिटॉक्‍स करके हर तरह के इंफेक्‍शन को भी खत्‍म करता है.लहसुन में एल्कीन नामक तत्व होता है जो जीवरू रोधी  होता है जिसके सेवन हमारे शरीर के बैक्टीरिया का नाश हो जाता है और वह हमारे शरीर को नुक्सान नहीं पंहुचा पाता है  सर्दी-जुकाम का करे खात्‍मा यहशरीर की गर्मी बढ़ाता है और बीमारियों को दूर रखता है. लहसुन का सेवन साइनस की तकलीफ को दूर करता है डायरिया से बचाए अगर किसी को या फिर बच्‍चों को बार-बार डायरिया हो जाता है तो उसे लहसुन और शहदका मिश्रण खिलाएं. इससे  पाचन तंत्र दुरुस्‍त होने के साथ ही पेट का संक्रमण भी खत्‍म हो जाएगा. यह एक प्राकृतिक डीटॉक्‍स मिश्रण है, जिसे खाने से शरीर से गंदगी बाहर निकल जाते हैं. लहसुन एक महत्वपूर्ण प्राकृतिक
घर पर फिंगर चिप्स कैसे बनायें

घर पर फिंगर चिप्स कैसे बनायें

कुछ और
हम अक्सर आलू फिंगर चिप्स (फ्रेंच फ्राइस) बाजार में खाते है, पर क्या आपको पता है की आलू फिंगर चिप्स हम आसानी से घर पर बना सकते है। घर पर बनाने में हम सफाई का भी ख़याल रखते है और जितना चाहे बना सकते है| तो यह है टेस्ट भी और बचत भी| आलू फिंगर चिप्स की रेसिपी विधि उपलब्ध है।--- फिंगर चिप्स बनाने का सामान - निकलने की छलनी रिफाइंड तेल आलू बड़े साइज के पीसी हुई काली मिर्च नमक चावल का आटा फिंगर चिप्स बनाने का तरीका --- सर्वप्रथम कड़ाही में तेल डालकर उसे मध्यम आंच पर गर्म करें आलू को छीलकर उसे तीन भागो में विभाजित करलम्बे -लम्बे काट कर उसे साफ़ पानी धो लें चिप्स को क्रिप्सी बनाने के लिए एक बाऊल में चावल का आटा इस मात्रा में घोलें की फिंगर चिप्स पर एक परत चढ़ जाए गर्म तेल में चिप्स को चावल के आटेमें डुबोकर अलग -अलग डाले चिप्स को लगातार चलते जाएँ ध्यान रहे की शुरुवात में आंच तेज फिर धीमी औ
दही का उपचार एवं प्रयोग एवं फायदे

दही का उपचार एवं प्रयोग एवं फायदे

कते हैं किसी भी शुभ काम की शुरुआत से पहले दही खाने से उस काम के लिए जाने वाले को सफलता मिलती है। साथ ही, दही को सेहत के लिए बहुहत अच्छा माना जाता है। इसमें कुछ ऐसे रासायनिक पदार्थ होते हैं, जिसके .. आंखों के विकार. चश्‍मे को हटाने के लिए लेसिक आई सर्जरी की जाती है जो बहुत आसान है, इसमें पढि़ये कि इस सर्जरी के कितने फायदे और नुकसान हैं .. दही खाने के फायदे - रात में नींद न आने की परेशानी से निपटने के लिए दही और छाछ का सेवन फायदेमंद होता है। महापुरुषो के अनुसार दही में अनेक तरह के गुणहोते है जो हमें कई ऊर्जा देते हैं बलवर्धक ,शक्तिवर्धक आदि जिससे हमें परिश्र्म करने की छमता मिलती है दही के सेवन से पेट की गर्मी समाप्त हो जाती है जिससे गैस की समस्या ख़तम हो जाती है दही अपनेआप में एक पौस्टिक आहार है दही भोजन को पचाने में सहायता करता है दही के सेवन से कफ का नाश होता है अर्थात यह कफनाश
लौंग के फायदे एवं उपचार –

लौंग के फायदे एवं उपचार –

कुछ और
लौंग की तासीर गर्म होती है। इसलिए सर्दी-जुकाम होने पर लौंग खाएं या इसकी चाय बनाकर पीना फायदेमंद है। अगर आप लौंग के तेल का इस्तेमाल कर रहे हैं तो इसे नारियल तेल के साथ मिलाकर उपयोग करें ताकि इसकी गर्म तासीर से सेहत को नुकसान न होलौंग एक बहुत छोटा सा फूल के आकार का होता है, जो लौंग के पेड़ से ही आता है. लौंग की हमारे भारतीय मसालों में मुख्य जगह है, इससे खाने को नया स्वाद, खुशबू मिलती है. कोई भी इस छोटी सी जड़ी-बूटी अचंभित करने वाले स्वास्थ्य लाभ से अनजान नहीं होगा। लौंग  ने ना केवल भारतीय खाने में अपने लिए एक ख़ास जगह बनाई है अपितु यह धार्मिक पूजा एवं अनुष्ठान में भी एक महत्वपूर्ण स्थान रखती है। आइये जानते है लौंग के बेहतरीन फायदे व उपचार कौन -कौन से है  लौंग को घी या दूध में पीसकर आंखों में लगाने से हिस्टीरिया की बेहोशी दूर हो जाती है। बूंद लौंग के तेल की लेकर 25-30 ग्राम शक्कर म