अवसाद यह खुद की बनायीं हुई बीमारी है डिप्रेशन  सिर्फ बीमारी नहीं है और न ही दिमागी फितूर। यह एक ऐसी मानसिक हालत है, जिसमें पॉजिटिव सोचने और बेहतर रिजल्ट तक पहुंचने की इंसान की कपैसिटी कम हो जाती है। वक्त पर इलाज  और करीबियों का साथ इस बीमारी से निपटने में अहम भूमिका निभाता है-

इस बीमारी में व्यक्ति खुद को किसी काम के योग्य नहीं समझता वह खुद को बीमार समझने लगता है।
इस बीमारी का इलाज वह व्यक्ति ही होता है जो अवसाद से पीड़ित हो।

अवसाद दूर करने के कुछ उपाय-

Depression

पर्याप्त नींद ले
अवसाद की समस्या तभी होती है जब या तो बहुत अधिक सोते हैं या बिल्कुल नहीं सो पाते हैं। इस समस्या से बचने के लिए बेड पर जाने का एक समय निर्धारित कर लें और हर रोज उसी समय पर सोएं। इससे आप अवसाद से तो बचेंगे ही साथ ही आपकी लाइफस्टाइल भी अच्छी होगी। अच्छी नींद के लिए आप चाहें तो सोने से पहले नहा सकते हैं या हर्बल टी या ग्रीन टी भी ले सकते हैं।

कुछ नया करें
जब आप अवसाद ग्रस्त होते हैं तो खुद को कुछ नया करने के लिए प्रेरित करना चाहिए। म्यूजियम जाएं या अपनी कोई मनपसंद लेखक की किताब पार्क में बैठकर पढ़ें। आप चाहें तो अपनी मनपसंद हॉबी क्लास भी ज्वाइन कर सकती हैं जैसे डांस, कुकिंग, गायन, पेंटिंग आदि। इससे आपका मन भी लगा रहेगा और अवसाद की समस्या से भी बचेंगे।

सामाजिक बनें
अकसर अवसादग्रस्त होने पर लोग खुद को एक कमरे में बंद कर लेते हैं जो कि बहुत गलत है। ऐसे समय में आपको और भी ज्यादा मजबूत बनना चाहिए और लोगों से घुल मिल कर रहना चाहिए। खुद को सामाजिक बनाएं ऐसे में आपको नकारात्मक विचारों से अपना ध्यान हटाने में मदद मिलेगी

व्यायाम करें
व्यायाम अवसाद को दूर करने का सबसे अच्छा तरीका है। इससे न केवल एक अच्छी सेहत मिलती है बल्कि शरीर में एक सकारात्मक उर्जा का संचार भी होता है। व्यायाम करने से शरीर में सेरोटोनिन और टेस्टोस्टेरोन हार्मोन्स का स्राव होता है जिससे दिमाग स्थिर होता है और अवसाद देने वाले बुरे विचार दूर रहते हैं।

संतुलित आहार
संतुलित आहार लें फल, सब्जी, मांस, फलियां, और कार्बोहाइड्रेट आदि का संतुलित आहार लेने से मन खुश रहता है। एक संतुलित आहार न केवल अच्छा शरीर बनता है बल्कि यह दुखी मन को भी अच्छा बना देता है।

दोस्त बनाएं
अच्छे दोस्त बनायें अच्छे दोस्त आपको आवश्यक सहानुभूति प्रदान करते हैं और साथ ही साथ अवसाद के समय आपको सही  सलाह भी देते हैं। इसके अतिरिक्त, जरूरत के समय एक अच्छा श्रोता साथ होना नकारात्मकता और संदेह को दूर करने में सहायक है।

नकारात्मक लोगों से बचें
नकारात्मक लोगों से दूर रहें कोई भी ऐसे लोगों के बीच में रहना पसंद नहीं करता जो कि लगातार दूसरों को नीचे गिराने में लगे रहते हैं। ऐसे लोगों से दूर रहने से मन को शांति और विवेक प्रदान करने में आपको मदद मिलेगी।

अवसाद से ग्रसित व्यक्ति को संगीत भी सुनना चाहिए इससे उसे काफी लाभ मिलेगा, हो सके तो अपने घर या कमरे में पौधा रखे और खुश रहने की पूर्णतः कोशिश करे

(Visited 1 times, 1 visits today)