हाथ -पैर के सुन्न होने पर कौन -कौन से घरेलु नुस्खे अपनाएँ

कभी -कभी लगातार बैठे या खड़े रहने से या एक ही मुद्रा में लगातार खड़े रहने से शरीर  के अंगो में सुन्नता  आ जाती है |जिससे शरीर के अंगो को किसी भी तरह का कोई दर्द आदि का अनुभव नहीं होता है |और उनके अंगो में किसी तरह की कोई भी जान नहीं रह जाती है| ऐसा कुछ देर के लिए ही होता है और थोडा सा चलने फिरने मात्र से ही कुछ ही समय में सब कुछ सामन्य हो जाता है |पर यह अक्सर शरीर के अंगो में शिथिलता आ जाने के कारण होता है|जिसमे पहले हल्की झनझनाहट का अनुभव होता है |फिर हाथ -पैरों में सुन्नपन का अनुभव होता है |

haath -pair ke sunn hone ki smasya ko ghrelu nuskhon dwara kaise smaapt karen

आइये जानते है कुछ घरलू नुस्खों द्वारा हाथ -पैर के सुन्न होने की समस्या को कैसे समाप्त किया जा सकता है –

पीपल और चित्रक तथा बेल के पेड़ की छाल व जड़ को बराबर की मात्रा में लेकर दूध में अच्छी तरह से पकाकर हर रात को सोने से पहले इसका सेवन करें | इससे हाथ -पैरों के सुन्न होने की समस्या में धीरे -धीरे आराम मिलता है सैन्धव तेल की मालिश से सुन्नपन में काफी लाभ होता है|

हाथ -पैर या शरीर के अंगो के सुन्न होने की समस्या का निजात पाने के लिए हर दिन ताजे फल व सब्जियों के रस का सेवन करने से इस समस्या से आराम मिलता है |आप फल व सब्जियों को अपने भोजन में भी उपयोग कर सकतें है| इससे आपको पर्याप्त मात्रा में मिनरल्स व विटामिन प्राप्त होंगे जो आपको स्वस्थ रखने में मदद करते है|

पपीते या शरीफे के बीजों को अच्छी तरह से सूखाकर फिर उसे पीसकर सरसों के तेल में मिलाकर उसे अच्छी तरह से पकाकर सुन्न होने वाले अंगों पर धीरे-धीरे मालिश करने से आराम मिलता है |तथा लगातार इसका उपयोग करने से यह समस्या हमेशा के लिए समाप्त हो जाती है |

हाथ -पैर के सुन्न होने की समस्या से निजात पाने के लिए व्यक्ति को कॉफी, चाय, नशीली चीज़ें, नमक, चीनी,आदि खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए| इससे उनके स्वास्थ्य पर और भी बुरा असर पड़ सकता है| जो उनके स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक हो सकता है।

भीगी हुई सोयाबीन को अच्छी तरह से निचोड़कर उसे दूध में मिलाकरतथा तिलों को गर्म दूध में मिलाकर सेवन करने से हाथ -पैर के सुन्न होने की समस्या समाप्त हो जाती है| इस समस्या से नीजात पाने के लिए बकरी के दूध का अधिक मात्रा में सेवन करने से यह रोग कुछ ही दिनों में ठीक हो जाता है।

कालीमिर्च को तथा लाल इलायची को बराबर मात्रा में कुछ देर पानी में भिगोकर तथा कुछ देर बाद पानी में पीसकर इसे अच्छी तरह से मिलाकर और इसका लेप तैयार करके और हल्की मात्रा में गर्म करके सुन्न हुई स्थान पर लगाने से तथा हलके हाथों से मालिश करने से इस समस्या से आराम मिलता है|

नारियल के तेल में कुछ मात्रा में जायफल का चूर्ण को मिलाकर तथा हल्की मात्रा में गर्म करके हाथ -पैर या सुन्न हुए स्थान पर लगाने से तथा हलके हाथों से उस स्थान की मालिश करने से सुन्न होने की समस्या से आराम मिलता है| तथा लगातार इसका उपयोग करने से इस समस्या से जल्द ही निजात मिल जाता है  |

रोजाना सुबह शाम अश्वगंधा चूर्ण का गुनगुने पानी के साथ सेवन करने से इस समस्या से आराम मिलता है |तथा यह समस्या जल्द ही समाप्त हो जाती है |

Related posts:

गाजर के इतने फायदे है कि आप हैरान रह जायेंगे इन १० को तो जरूर जाने
सर्दी जुकाम से झटपट राहत पाने का आसान घरेलू उपाय
दादी माँ के घरेलू नुख्से | नानी माँ के नुस्खे | आयुर्वेदिक घरेलू उपाय
नीम का पेड़ पत्ती तथा उसके फायदे - Benefits & Uses of Neem
मुँह के छालो के उपाय
गन्ने का रस पीने के 9 फायदे // Nine benefits of sugarcane juice
जानियें दाँतों का पीलापन दूर करने के दस बेहतरीन उपाय
कमजोर हड्डियों को मजबूत कैसे बनायें
क्या है योग का हमारे जीवन में महत्त्व
काली खांसी को घरेलु उपाय द्वारा कैसे दूर करें
गठिया ,बाईं का घरेलू उपचार
मसाज से पहले किन -किन बातों का ध्यान रखें
शरीर से विषैले पदार्थ को निकलने के नौ आसान उपाय
चिकनगुनिया बुखार से आराम पाने के घरेलु नुस्खे
सफ़ेद बालों को घरेलु नुस्खों द्वारा कैसे ठीक करें
नारियल की गरी के स्वास्थ्य के प्रति बेहतरीन फायदे
नकसीर को घरेलु नुस्खों द्वारा कैसे समाप्त करें
आइब्रो को बनवाते समय किन -किन बातों का ध्यान रखें
News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *