कभी -कभी लगातार बैठे या खड़े रहने से या एक ही मुद्रा में लगातार खड़े रहने से शरीर  के अंगो में सुन्नता  आ जाती है |जिससे शरीर के अंगो को किसी भी तरह का कोई दर्द आदि का अनुभव नहीं होता है |और उनके अंगो में किसी तरह की कोई भी जान नहीं रह जाती है| ऐसा कुछ देर के लिए ही होता है और थोडा सा चलने फिरने मात्र से ही कुछ ही समय में सब कुछ सामन्य हो जाता है |पर यह अक्सर शरीर के अंगो में शिथिलता आ जाने के कारण होता है|जिसमे पहले हल्की झनझनाहट का अनुभव होता है |फिर हाथ -पैरों में सुन्नपन का अनुभव होता है |

haath -pair ke sunn hone ki smasya ko ghrelu nuskhon dwara kaise smaapt karen

आइये जानते है कुछ घरलू नुस्खों द्वारा हाथ -पैर के सुन्न होने की समस्या को कैसे समाप्त किया जा सकता है –

पीपल और चित्रक तथा बेल के पेड़ की छाल व जड़ को बराबर की मात्रा में लेकर दूध में अच्छी तरह से पकाकर हर रात को सोने से पहले इसका सेवन करें | इससे हाथ -पैरों के सुन्न होने की समस्या में धीरे -धीरे आराम मिलता है सैन्धव तेल की मालिश से सुन्नपन में काफी लाभ होता है|

हाथ -पैर या शरीर के अंगो के सुन्न होने की समस्या का निजात पाने के लिए हर दिन ताजे फल व सब्जियों के रस का सेवन करने से इस समस्या से आराम मिलता है |आप फल व सब्जियों को अपने भोजन में भी उपयोग कर सकतें है| इससे आपको पर्याप्त मात्रा में मिनरल्स व विटामिन प्राप्त होंगे जो आपको स्वस्थ रखने में मदद करते है|

पपीते या शरीफे के बीजों को अच्छी तरह से सूखाकर फिर उसे पीसकर सरसों के तेल में मिलाकर उसे अच्छी तरह से पकाकर सुन्न होने वाले अंगों पर धीरे-धीरे मालिश करने से आराम मिलता है |तथा लगातार इसका उपयोग करने से यह समस्या हमेशा के लिए समाप्त हो जाती है |

हाथ -पैर के सुन्न होने की समस्या से निजात पाने के लिए व्यक्ति को कॉफी, चाय, नशीली चीज़ें, नमक, चीनी,आदि खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए| इससे उनके स्वास्थ्य पर और भी बुरा असर पड़ सकता है| जो उनके स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक हो सकता है।

भीगी हुई सोयाबीन को अच्छी तरह से निचोड़कर उसे दूध में मिलाकरतथा तिलों को गर्म दूध में मिलाकर सेवन करने से हाथ -पैर के सुन्न होने की समस्या समाप्त हो जाती है| इस समस्या से नीजात पाने के लिए बकरी के दूध का अधिक मात्रा में सेवन करने से यह रोग कुछ ही दिनों में ठीक हो जाता है।

कालीमिर्च को तथा लाल इलायची को बराबर मात्रा में कुछ देर पानी में भिगोकर तथा कुछ देर बाद पानी में पीसकर इसे अच्छी तरह से मिलाकर और इसका लेप तैयार करके और हल्की मात्रा में गर्म करके सुन्न हुई स्थान पर लगाने से तथा हलके हाथों से मालिश करने से इस समस्या से आराम मिलता है|

नारियल के तेल में कुछ मात्रा में जायफल का चूर्ण को मिलाकर तथा हल्की मात्रा में गर्म करके हाथ -पैर या सुन्न हुए स्थान पर लगाने से तथा हलके हाथों से उस स्थान की मालिश करने से सुन्न होने की समस्या से आराम मिलता है| तथा लगातार इसका उपयोग करने से इस समस्या से जल्द ही निजात मिल जाता है  |

रोजाना सुबह शाम अश्वगंधा चूर्ण का गुनगुने पानी के साथ सेवन करने से इस समस्या से आराम मिलता है |तथा यह समस्या जल्द ही समाप्त हो जाती है |

Please follow and like us:
error

Related posts:

अगर आप भी हैं, कान बहने की समस्या से परेशान है तो ये ये करें
फोड़े फुंसी दाने ठीक करने का सबसे आसान घरेलू उपचार
दादी माँ के घरेलू नुख्से | नानी माँ के नुस्खे | आयुर्वेदिक घरेलू उपाय
लहसुन के फायदे
हरी धनिया के फायदे एवं उपयोग
दही का उपचार एवं प्रयोग एवं फायदे
दाँतों के दर्द के लिए घरेलू नुस्खे
मुँह के छालो के उपाय
केले के 8 असरदार फायदे
जानिये क्या होते है कुपोषण के लक्षण --
पेट दर्द दूर करने के आठ बेहतरीन घरेलु नुस्खे
बंद नाक को खोलने के घरेलु नुस्खे
आधे सिर के दर्द को दूर करने के सात घरेलु उपाय
चिकनगुनिया बुखार से आराम पाने के घरेलु नुस्खे
दुबले पतले लोग घरेलु नुस्खों द्वारा सेहत को कैसे बनाये
चांदी ,ताम्बे के बर्तनों को घरेलु नुस्खों द्वारा कैसे चमकाएं
जानिये कैसे प्रोटीन की कमी से शरीर बीमारियों से नहीं लड़ पाता है
भीगे हुए चने के स्वास्थ्य के प्रति बेहतरीन फायदे