आज कल का जीवन दिन प्रतिदिन व्यस्तताओं से भरा हुआ है। आज कल के जीवन में खुद को स्वस्थ रखना सबसे बड़ी जिम्मेदारी  है. इसमें एक बेहतरीन जीवन जीना मुश्किल होता जा रहा है, इसीलिए हम आज आपके लिए कुछ उपाय लेकर आ रहे है।

svasth jeevan

 

अगर आप भी अपने जीवन में सेहतमंद और स्वस्थ रहना चाहते है तो खुद को आपको कुछ समय देना होगा। तभी आप दिनचर्या में संतुलन बना पाएंगे।

हम आज आपके साथ यहाँ अच्छे स्वास्थ्य के लिए 7 उपाय शेयर कर रहे है जिन्हें आप अपनी लाइफ में अपनाकर खुशहाल जिन्दगी जी सकते है।

1. खाने में संतुलन अपनाये
अच्छे स्वास्थ्य के लिए आपका खाना या भोजन प्रमुख भूमिका निभाता है। अगर आपका खाना अच्छा और पौष्टिक होगा तो वह आपकी सेहत को भी अच्छा बनाएगा वही अगर आप अपने भोजन के प्रति लापरवाही बरतते है या पौष्टिक भोजन नहीं लेते है तो यह आपके स्वास्थ्य को बीमार बना देगा। आपको कौन सी चीज खानी चाहिए तथा किन चीजो से आपको परहेज करना चाहिए यह बात आपको अपने Body के हिसाब से पता होनी चाहिए।

आयुर्वेद में भी कहा गया है कि आप अपनी प्रकृति (Nature) के हिसाब से ही आहार ले। यानि की अगर आप में पित्त प्रकृति की मात्रा बहुत अधिक है तो आप पीली वस्तुओ जैसे कि ज्यादा तेल, हल्दी और इसी तरह की पीली चीजो से परहेज करे। इसलिए अपने प्रतिदिन के भोजन में विटामिन्स (Vitamins),प्रोटीन्स (Protins), वसा (Fat), कार्बोहाइड्रेट, मिनरल्स (Minerls) आदि सभी चीजो को संतुलित मात्रा में अपने आहार में शामिल करे।

2. अपनी दिनचर्या को रखे संतुलित
जीवन को स्वस्थ रखने के लिए अपनी दिनचर्या को सुव्यवस्थीत करना  भी काफी महत्वपूर्ण है।  सुबह उठने से लेकर रात में सोने तक, हमारी दिनचर्या यानि दिन भर का शेड्यूल क्या हो, यह हमारी सेहत के लिए जानना बहुत जरुरी है। मान ले आप रोज सुबह 6 बजे उठते है तो हल्का व्यायाम या मोर्निंग वाक (Morning Walk) करने के बाद नहा ले। फिर अपने रोजाना के समय पर नाश्ता करे और नाश्ता करने के बाद 15 मिनट आराम करे, उसके बाद फिर आपको अपने काम में लग जाना चाहिए।

दोपहर 2 बजे तक लंच कर ले। दोपहर का भोजन करने के बाद 15 मिनट तक चुपचाप बैठकर आराम करना हेल्थ के लिए अच्छा रहता है. शाम के 5 बजे भूख लगने पर थोड़ा सा नाश्ता लेने में कोई दिक्कत नहीं है। घर आने के बाद आधे घंटे एकांत में आराम करना और रात को 9 बजे तक रात का भोजन ले लेना चाहिए। फिर भोजन के 1 या 2 घंटे के बाद ही सोना चाहिए भोजन के बाद आधे घंटे तक टहलना भी काफी अच्छा होता है। ऐसा करने से भोजन का पाचन बड़ी आसानी से हो जाता है।

3. ऋतुचर्या को न करे नजरअंदाज
ऋतुचर्या का मतलब है ऋतु के मुताबिक अपनी दिनचर्या में में परिवर्तन कर लेना चाहिए, जाड़ा गर्मी और बरसात प्रकृति में जब ऋतु परिवर्तन होता है तब हमें भी खुद में परिवर्तन के लिए तैयार रहना चाहिए।

जैसे ऋतु के बदल जाने पर प्रकृति में बदलाव दिखाई पड़ता है, उसी तरह हमें अपने खान-पान, रहन-सहन, दिनचर्या और योगासनों में भी बदलाव कर लेना चाहिए। प्रकृति ने हर ऋतु के अनुकूल फल, सब्जी और खाद्य पदार्थ बनाये है। किसी अन्य ऋतु में पैदा होने वाली चीजो को किसी अन्य ऋतु में सेवन नहीं करना चाहिए। मसलन कि कोल्ड स्टोरेज में रखा तरबूज या बेल, बरसात के महीने में सेवन नहीं करना चाहिये तथा ठन्डे के दिनों में हमें ठंडी चीजो का सेवन नहीं करना चाहिए। यही नियम अन्य चीजो पर भी लागू होता है।

4. योगासन अपनाकर रहे स्वस्थ
योगा आज के समय में हमारे जीवन में एक महत्त्वपूर्ण स्थान रखता है योग करना इतना अधिक प्रचलित यू ही नहीं हुआ बल्कि योग द्वारा ऐसे Result भी हमारे सामने आये है जिसमे किसी को भी अचरज हो। योग द्वारा कई लोगो ने गंभीर बीमारियों से निकलकर स्वस्थ जीवन पाया है इसलिए योग करना हमारे हेल्थ के लिए भी बहुमूल्य है।

हमें ऋतुचर्या के मुताबिक ही योगासन और मुद्राओ का अभ्यास करना चाहिए। पसीना निकलने वाले और गर्मी बढाने वाले आसनों को गर्मी के दिनों में न करे. सेहत के लिए मुद्राओ का अभ्यास भी जरुरी है। मानसिक सेहत के लिए भी कई मुद्राएँ है, जिन्हें रोजाना करना चाहिए. जैसे – ज्ञान मुद्रा, यह मुद्रा अंगूठा और तर्जनी को मिलाने से बनती है। इसको रोजाना करने से याददाश्त बढती है और मानसिक बीमारियों को दूर करने में मदद मिलती है। इससे अनिद्रा और चिडचिडापन भी दूर होता है।

इसी तरह और भी कई मुद्राएँ है, जिसे किया जा सकता है। जैसे प्राण मुद्रा, पृथ्वी मुद्रा, वायु मुद्रा, ह्रदय मुद्रा, सूर्य मुद्रा आदि। इन्हें आप किसी अच्छे योग गुरु से सीख सकते है। इन मुद्राओ के अभ्यास से कई तरह की शारारिक और मानसिक समस्याओ से छुटकारा मिलता है।

5. पॉजिटिव सोच अपनाये
एक सही सोच जीवन को स्वस्थ बनाने में अहम् भूमिका निभाती है।  ज्यादातर तनाव और अवसाद जैसी समस्याएं नेगेटिव सोच की वजह से पैदा होती है। इसलिए तनाव व डिप्रेसन से लड़ने के लिए हमें अपनी सोच को सकारात्मक बनाना होगा. आपको अपनी सकारात्मक सोच को बढाने के लिए रोजाना भ्रामरी का अभ्यास करना चाहिए. रोज सुबह सूर्योदय से पहले बिस्तर छोड़ दे।

एक स्वस्थ जीवन जीने के लिए अपने अच्छे पलो को याद कर के अपना मन प्रसन्न  रखे,ख़राब समय को बार बार अपने विचारो में न लाये इससे मन में काफी उथल पुथल रहती है और मन अशांत रहता है अपना व्यवहार सबसे अच्छा रखे , सकारात्मक सोच अपनाये

svasth jeevan

6. खुलकर हँसने का प्रयास करें
एक बात कही गयी है, सौ रोगो की एक दवाई हसना सीखो मेंरे भाई, यह सही बात है की हसने से काफी रोगो से निजात मिल जाता है एक हसता हुआ इंसान सभी को पसंद है लोग उसके पास भी बैठना पसंद करेंगे

जब कभी भी हमें सच्ची ख़ुशी (Real Happiness) मिलती है या हम जब खुश रहते है तब हमारे शरीर में ऐसे हार्मोन्स (Harmons) उत्पन्न होते है जो हमें तनाव (Stress) से लड़ने में भी सहायता करता है। कई शोधो से भी यह बात साबित हुई है कि रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने, शारारिक और मानसिक सेहत को बेहतर करने, पाचन क्रिया को बढ़ाने तथा याददाश्त बढ़ाने के लिए खुल कर हंसने से बेहतर और कोई उपचार, दवा या तरीका नहीं है और न ही कोई आसन या प्राणायाम ही है।आप अच्छी बातो और अच्छे लोगो के बारे में सोच कर और उनसे बाते कर के आप हसी का वातावरण बना सकते है

7. तन व मन में रखे संतुलन
अपने खान पान और स्वस्थ शरीर अन्य तरीको से आप पूरी तरह फिट नहीं है आप को तन और मन सभी का पूरा संतुलन बना कर रखना होगा अच्छे स्वास्थ्य के लिए शारारिक (Physical) व मानसिक (Mentaly) श्रम करना बहुत आवश्यक है। क्योंकि बिना शारारिक श्रम के तंदुरुस्ती बेहतर नहीं हो सकती। फिजिकल वर्क करने से हड्डियाँ भी मजबूत होती है। इस तरह आप तन और मन में संतुलन बनाये रखने से शारारिक और मानसिक रूप से सेहतमंद रह सकते है।

 

 

Please follow and like us:
error

Related posts:

स्वस्थ रहना है तो, खाली पेट रहें इन चीजो से दूर
अंडे खानें के हैं शौकीन, तो जानें जरूरी बातें
राजीव दीक्षित के घरेलू नुस्खे और देसी उपचार | Rajeev Dixit Home Remedies
दादी माँ के घरेलू नुख्से | नानी माँ के नुस्खे | आयुर्वेदिक घरेलू उपाय
हरी बीन्स खाने के सात बड़े फायदे | 7 Big benefits of green beans
हरी धनिया के फायदे एवं उपयोग
टांसिल को दूर करने के घरेलु उपाय
दांतों की कैविटी कैसे दूर करें
मसूढ़ों की सूजन घरेलु उपाय द्वारा कैसे दूर करें
गले के दर्द से आराम कैसे पायें
मिर्गी को दूर करने के घरेलु उपाय
निमोनिया से राहत पाने के घरेलु उपचार
थायराइड में वजन और मोटापा कैसे कम करें
आँखों की अत्यधिक लालिमा को घरेलु नुस्खों द्वारा कैसे ठीक करें
पैरों के तलवों में होने वाली जलन को घरेलु नुस्खों कैसे दूर करें
पैदल चलने के अनोखे फायदे
इन फलाहारी चीजों का सेवन करने से आप नवरात्री के दिनों में भी स्वस्थ रह सकते है
नाशपाती के स्वास्थ्य के प्रति बेहतरीन फायदे