कैविटी आपके दांत के विभिन्न भागों में होने वाले छोटे छेद हैं, जो मुंह की उचित सफाई न होने के कारणदांतों की सड़न के कारण उत्पन्न होते हैं। यह प्रक्रिया तब होती है, जब आपके मुंह में मौजूद बैक्टीरिया स्टार्च और शक्करयुक्त खाद्य पदार्थो को खाते हैं और अम्ल बनाते हैं। इससे दांतों में सड़न पैदा होती है। स्टार्च युक्त खाद्य पदार्थों  में बिस्किट्स, चॉकलेट्स. आलू, केला और गेहूं की रोटी आदि को शामिल किया जाता है। दांतों में संक्रमण होने पर कैविटी बन सकती है

आपकी दांत की सड़न और कैविटी के लिए लौंग से अच्छा घरेलू उपचार और कुछ नहीं है। लौंग में एंटीसेप्टिक तत्व मौजूद होते हैं जिससे इंफेक्शन को ठीक किया जा सकता है। यदि आप मसूड़ों या दांतों में होने वाले दर्द से छुटकारा पाना चाहते हैं या कैविटी को फैलने से रोकता चाहते हैं तो लौंग की गुनगुनी चाय से कुल्ला करें। इसके अलावा तिल के तेल में 2 से 3 बूंदें लौंग के तेल की मिलाकर रुई के साथ प्रभावित जगह पर लगाने से कैविटी दूर होती है

kaiviti

आइये जानते है की दांतों की कैविटी कैसे दूर करतें है —

लौंग में एंटी बैक्टीरियल गुण होने के कारण इसे अत्यधिक फायदेमंद माना जाता है इसलिए तिल के तेल में 1 से 3 चम्मच लौंग का तेल मिलाकर दान पर मालिश करने से आराम मिलता है ।

लहसुन किटाणू ,जर्म्स आदि को मारने के लिए परफेक्ट माना जाता है इसलिए लहसुन और सेंधा नमक मिलाकर पेस्ट बना लें और कैविटी वाले दांत पर लगायें इससे आपको आराम मिलेगा ।

कैविटी होने पर प्रभावित दांत पर थोड़ा सा हल्दी पाउडर लगाकर इसे कुछ मिनटों के लिए छोड़ दें, आपको आराम मिलेगा। यह चीज आप दिन में दो बार कर सकते हैं।

एक चम्मच नमक हलके गर्म पानी में मिलाकर कुल्ला करें तथा एक चम्मच नमक में सरसों की तथा नीम्बू की कुछ बूंदे मिलाकर प्रभावित दांत में मसाज करने से आराम मिलता है ।

मुलेठी की जड़ को पीसकर पाउडर बना लें और इसे मंजन के रूप में प्रयोग करें इसके अलावा आप इसकी छड को दातून के रूप में प्रयोग कर सकतें है इससे दांतों को साफ़ करने से आपको कैविटी से आराम मिलेगा ।

नीम के पत्तों के रस को निकालकर दांतों पर लगायें फिर गर्म पानी से कुल्ला कर ले इससे आपको कैविटी में आराम मिलेगा ।

दांतों को कैविटी मुक्त रखने के लिए रोज आवले का सेवन करें तथा सांस की बदबू से लड़ने के लिए आवले के पाउडर का सेवन करने से  आराम मिलता है ।

 

(Visited 4 times, 1 visits today)