अगर बात घरेलू इलाज और आयुर्वेदिक नुस्खों की जाये तो राजीव दीक्षित जी का नाम सबसे पहले आता है। राजीव दीक्षित एक सम्मानित भारतीय वैज्ञानिक, प्रखर वक्ता और आजादी बचाओ आन्दोलन के संस्थापक थे। बाबा रामदेव ने उन्हें भारत स्वाभिमान ट्रस्ट का राष्ट्रीय महासचिव बनाया था। वे राजीव भाई के नाम से अधिक मशहूर हुए। इन्होंने हज़ारो साल पुराने देसी आयुर्वेदिक के बारे लोगों को जागरूक करने में अहम् योगदान दिया है। इन्होने सबको बताया बिना अग्रेजी दवाई खाए कैसे घरेलू नुस्खों की सहायता से घर पर ही रोगों का इलाज किया जा सकता है। इन्होने शुगर, ब्लड प्रेशर, बवासीर, जोड़ों में दर्द, मोटापा और ऐसी ही कई अन्य बिमारियों का ट्रीटमेंट और इनसे बचने के रामबाण उपाय बताये है।

राजीव दीक्षित के घरेलू नुस्खे और आयुर्वेदिक उपचार

1- हाइट बढ़ाने के लिए हर रोज गेंहू के दाने के बराबर चूना दही में मिला कर खाए। दही ना हो तो दाल या पानी के साथ ले।

2-सर्दी जुखाम और कफ की समस्या के घरेलु इलाज के लिए काली मिर्च, तुलसी और अदरक को शहद में मिला कर दिन में 2 से 3 बार खाये। इससे नाक का बहना रुक जायेगा।

3-बाल झड़ने से रोकने के लिए नीम का पेस्ट बालों में लगाए फिर कुछ देर बाद धो ले। इससे बाल झड़ना बंद हो जायेंगे।

4-गले की खराश दूर करने के लिए अदरक के पेस्ट में घी और गुड़ मिला कर खाये।

5-बवासीर से छुटकारा पाने के लिए 1 कप मूली का रस खाना खाने के बाद सुबह या दोपहर को पियें। इससे बवासीर, भगंदर में आराम मिलता है।

6-बार बार पेशाब आने की समस्या को रोकने के लिए सुबह शाम तिल और गुड़ से बना लड्डू खाये।

7-हाई ब्लड प्रेशर के देसी इलाज के लिए कुछ दिन निरंतर आधा चम्मच मेथी दाना पाउडर पानी के साथ ले। इसके अलावा लौकी का रस और तुलसी का रस भी उच्च रक्तचाप को कम करने में मदत करता है।

8-दांत का दर्द दूर करने के लिए कच्चे प्याज के एक टुकड़े को 3 मिनट के लिए दांतों के बीच दबा कर रखे। इस उपाय से काफी आराम मिलेगा।

9-किडनी में पथरी की समस्या हो तो 3 कच्ची भिंडी पतली और लम्बी काट कर 2 लीटर पानी में दाल दे और रात भर के लिए इसे ऐसे ही छोड़ दे। सुबह इसी पानी में भिंडी निचोड़ कर अलग कर ले और 2 घंटे के अंदर सारा पानी पी जाये। इस उपाय को निरंतर करने पर किडनी की पथरी से निजात मिलेगी।

10-मुंह की बदबू के उपाय के लिए तुलसी के पत्ते चबाये। लौंग और इलायची से भी सांस की बदबू से छुटकारा मिलता है। शरीर से बदबू आती है तो गाजर का जूस रोजाना पीना चाहिए इससे तन की दुर्गंध दूर करने में मदद मिलती है।

11-पान में खाने वाला चूना अनेकों रोगों के उपचार में रामबाण दवा का काम करता है। गेंहू के दाने के समान चूना दही, दाल या जूस के साथ ले। पीलिया, नपुंसकता, दिमाग तेज करने, पीरियड्स की समस्या, कमर दर्द, कंधे का दर्द, घुटनों और जोड़ों का दर्द जैसे अनेकों रोगों से छुटकारा पाने में चूना का सेवन उपयोगी है। पथरी के रोगी इस उपाय को ना करे।

12-बच्चों को बुखार और सर्दी हो जाये तो 2-3 तुलसी के पत्ते और एक छोटा अदरक का टुकड़ा ले और इनका रस निकाल कर एक चम्मच शहद के साथ दिन में दो से तीन बार दे।

13-राजीव दीक्षित शुगर का इलाज घरेलू तरीके से करने के लिए करेले को असरदार बताते है। मधुमेह के रोगी को करेले का जूस हर रोज पीना चाहिए। भोजन में भी करेले की सब्जी खाने से भी डायबिटीज कंट्रोल में रखने में मदद मिलती है।

14-मोटापा और वजन कम करने के लिए जीरा काफी असरदार है। एक चम्मच जीरा रात को एक गिलास पानी में भिगो कर रखे और सुबह इसे उबाल कर चाय की तरह पिए और बचा हुआ जीरा चबा कर खाए। निरंतर इसको करने से पेट की चर्बी कम होने लगती है।

15-सिर दर्द के उपचार के लिए दालचीनी को पानी में पीस का पेस्ट बना ले और इसे माथे पर लगा कर छोड़ दे। सिर का दर्द दूर करने में ये ट्रीटमेंट दवा से बेहतर काम करता है।

16-दस्त लगे हो और बार बार टॉयलेट जाना पड़ता है तो इसके इलाज के लिए राजीव दीक्षित जी जीरा का रामबाण दवा बताते है। दस्त ठीक करने के लिए आधा 2- चम्मच चबा कर खाए और ऊपर से गुनगुना पानी पिए loose motion बंद हो जायेंगे।

17-पेट की गैस और पेट का अफारा ठीक करने के लिए काला नमक और अजवाइन बराबर मात्रा में मिला कर गरम पानी के साथ ले।

18-पतले दस्त हो रहे है और हर 5 मिनट में टॉयलेट जा रहे हो तो आधे कप कच्चे दूध में निम्बू निचोड़ कर तुरंत पी जाये।

19-अगर पेट साफ़ ना होता हो तो अजवाइन इसकी सबसे अच्छी दवा है। कब्ज़ का घरेलू इलाज करने के लिए अजवाइन को गुड़ के साथ चबा कर खाए और ऊपर से गरम पानी पिए। रात को सोने से पहले इस उपाय को करे सुबह आपका पेट साफ़ हो जायेगा।

20-पेट साफ़ करने के लिए त्रिफला चूर्ण भी काफी उपयोगी बताया गया है। रात को सोने से पूर्व 1 चम्मच त्रिफला चूर्ण पानी के साथ ले।

(Visited 56 times, 1 visits today)