गाजर के इतने फायदे है कि आप हैरान रह जायेंगे इन १० को तो जरूर जाने

सर्दी के मौसम में गाजर को लोग बहुत पंसद करते है। रोजाना कच्ची गाजर खाने या इसका जूस पीने से आपकी कई हेल्थ प्रॉब्लम दूर हो सकती है। औषधीय गुणों से भरपूर गाजर का सेवन सर्दियों में बहुत फायदेमंद होता है। आइए जानते है रोजाना गाजर के सेवन से आपको क्या-क्या फायदें हो सकते है। 

गाजर में ढेरों औषधीय गुण छिपे हुए हैं। चिकित्सकों के मुताबिक गाजर गरम तथा तर होने के कारण यह पेशाब लाने वाली, कफ निकालने वाली, दिमाग को बल देने वाली, वीर्यवर्धक तथा मन को प्रसन्न रखने वाली होती है। गाजर को कच्चा तथा उबालकर सेवन करने से शरीर पुष्ट होता है।

गाजर के फायदे गाजर शरीर से गंदे पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करती है। और तो और, अल्सर जैसी खतरनाक बीमारी में भी गाजर फायदा करती है। कमजोरी से अगर आपको चक्कर आते हों तो गाजर खाना आपके लिए संजीवनी बूटी का काम करेगा।

गाजर में विटामिन ‘ई’ प्रचुर मात्रा में होता है। इसमें एक विशेष गुण यह रहता है कि इसके सेवन से नवीन रक्त का निर्माण शीघ्रता एवं प्रचुरता के साथ होता है। इसलिए यह प्रकृति-प्रदत्त उत्तम टॉनिक का कार्य भी करती है। इससे रक्त में कैंसर के कोष विकसित नहीं हो पाते। गाजर के जूस का कुछ दिनों तक सेवन करते रहने से खांसी, दमा, पेशाब की जलन तथा पथरी से पीड़ित व्यक्तियों को लाभ मिलता है। गाजर के पाक तथा मुरब्बे का सेवन करने से शरीर पुष्ट बनता है।

Gajarहमारी स्वदेशी चिकित्सा पद्धति में ‘आयुर्वेद’ गाजर को यौन शक्तिवर्धक टॉनिक मानती है। गाजर और मूली के रस को बराबर-बराबर मात्रा में लेकर नियमित पीते रहने से लिंग की दुर्बलता दूर होने के साथ यौन शक्ति में अत्यन्त लाभ होता है। दुबले एवं शुक्र दौर्बल्य से पीड़ित व्यक्तियों के लिए यह प्रकृति प्रदत्त बेहतरीन तोहफा है। ऐसे व्यक्तियों को गाजर का पाक या खीर कुछ दिनों के लिए लगातार सेवन करना चाहिए। शहद में तैयार किया गया गाजर का मुरब्बा अत्यंत कामोत्तेजक होता है।

बच्चों के दांत निकलने के समय गाजर के रस को पिलाते रहने से दांत आसानी से निकल जाते हैं तथा दूध भी उचित रूप से हजम होने लगता है। बच्चा जब चलने के लायक हो जाए तो उसे गाजर और संतरे का रस मिलाकर देने से वह ताकतवर बनकर शीघ्रता से चलने लगता है। गाजर के रस का पान हमेशा दोपहर में ही करना अत्यधिक लाभप्रद होता है। हमेशा ताजा गाजरों का ही रसपान करना चाहिए। रसपान के तुरन्त बाद या पहले भोजन नहीं करना चाहिए।

गाजर

गाजर के फायदे:-

1- गाजर और पालक के रस में भुना जीरा, काला नमक मिला कर पीने से शरीर की कमजोरी दूर हो जाती है।

2- सर्दी में रोजाना गाजर या इसके जूस का सेवन करने से आपका शरीर गर्म रहता है। यह आपके शरीर को अंदर से गर्म रखता है। गाजर के रस में काली मिर्च मिला कर पीने से सर्दी-खांसी, जुकाम और कफ की समस्या का खतरा कम हो जाता है।

3- रोजाना गाजर का सेवन गैस, ऐठन, शोथ, पेट के अल्सर ,अपच या पेट अफरा की समस्याओं के लिए पायदेमंद होता है। इसके रस में नींबू और पालक का रस मिलाकर पीने से कब्ज की समस्या दूर होती है।

4- कैल्शियम पैक्टीन फाइबर , विटामिन ए बी और सी के गुणों से भरपूर गाजर का सेवन कॉलेस्ट्रोल का लेवल को कंट्रोल करके दिल की बीमारीयां का खतरा कम करता है।

5- इम्यून सिस्टम को ठीक रखने के लिए रोजाना गाजर के रस में शहद डालकर पीएं। इससे पाचन तंत्र ठीक रहने के साथ पेट की कई समस्याएं दूर हो जाएगी।

6- 150 ग्राम गाजर, 3 लहसुन और लौंग की चटनी बनाकर रोजाना सुबह खाने से पुरानी या सर्दी की खांसी दूर हो जाएगी। इसके अलावा इससे सर्दियों में होने वाली बीमारियां भी दूर रहती है।

7- इसमें आंवला का रस और काला नमक मिला कर खाने से यूरिन में इंफेक्शन और जलन की समस्या से छुटकारा मिल जाता है।

8- चुंकदर पालक और गाजर को कद्दूकम करके दूध में अच्छी तरह उबाल कर रोजाना पीएं। इससे शरीर में खून की कमी पूरी हो जाती है।

9- रोजाना दिन में 2 कच्ची गाजर खाने से दिमाग तेज होने के साथ आपका आईक्यू लेवल भी बढ़ता है।

10- अगर आपको चश्मा लगा है तो रोजाना गाजर और पालक का एक गिलास जूस पीएं। इससे चश्मा हटने के साथ आंखों की रोशनी तेज होती है।

Top 10 Amazing Health Benefits Of Carrots

Related posts:

४ दिनों में मदार के पत्तों से मोच चोट सूजन जड़ से भगाएं // aasan ghareelu upchaar
गाय के दूध के फायदे -और उपचार
दही का उपचार एवं प्रयोग एवं फायदे
बीमार बच्चों की देखभाल कैसे करें
लौंग के फायदे एवं उपचार -
क्या हमारे समाज में आज भी नारी शिक्षित है।
जानिये क्या होते है कुपोषण के लक्षण --
संतरे के फायदे तथा उपचार --
कमजोर हड्डियों को मजबूत कैसे बनायें
क्या है योग का हमारे जीवन में महत्त्व
सर्दी ,जुकाम से राहत कैसे पायें
मसाज से पहले किन -किन बातों का ध्यान रखें
टीबी को दूर करने के घरेलु नुस्खे
पेट के कीड़ों को आसानी से समाप्त करने के घरेलु नुस्खे
नकसीर को घरेलु नुस्खों द्वारा कैसे समाप्त करें
भीगे हुए चने के स्वास्थ्य के प्रति बेहतरीन फायदे
घरेलु नुस्खों द्वारा फटे हुए होंठों के लिए लिप बाम कैसे बनायें
भारतीय साड़ी ,एक संस्कृति एक परम्परा
News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *